Ads Area

जीवन की कड़वी सच्चाई

 ❤ "खुश नसीब होते हैं बादल,

जो दूर रहकर भी ज़मीन पर बरसते हैं,

और एक बदनसीब हम हैं,

जो एक ही दुनिया में रहकर भी.. मिलने को तरसते हैं."❤


" एक रूह है जिसको सुकून की तलाश है

और एक मिजाज़ है जिसको आवारगी की तलब है .."

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area