जिंदगी वाली शायरी हिन्दी में


ज़िंदगी का सफर।मानो तो मौज है वर्ना समस्या तो रोज है।


 ये जो बीत रहा है,वो सिर्फ़ वक्त नहीं ज़िंदगी भी है....!

 


वॄद्धाश्रम में माता पिता को छोड़ने आऐ हो ?ध्यान रखना आश्रम वाले आपके लिए भी दरवाजे खुले रखेंगे⚘

 


🌹आग तो हम भी लगा दें दिलों में...अपनी शायरी से...🌹🌹पर डरते हैं, किसी को ...हमसे इश्क़ न हो जाए...🌹

 


हर सक्श की उदासी का मसला इश्क़ नहीं होता जिन्दगी और परिवार की कुछ उलझने भी इंसान को उदास होने पर मजबुर कर देती हैं |

 


To suno bhai Dekh ke hume vo sir jhukate hai,bula ke mehfil me nazare churate hai ,Nafrat ho gai he humse to bhi koi bat nahi ,Par gairon se mil ke dil♥️kyo jalate hai.

 



"Ajeeb zindagi hain meri...Pyaar mila farebi...Dost mile matlabi...Abhi khuda ke alwa koi apna nahi sab ke sab hain ajnabi❤️"

 


❛खामोशी से बनाते रहो पहचान अपनी,हवाएँ ख़ुद गुनगुनाएगी नाम तुम्हारा।❜❣️

 

Tags:
Previous Post Next Post